Type of accounts in Post office : Post Office Saving Schemes in Hindi

Type of accounts in Post office, Post Office Saving Schemes in Hindi sukanya samriddhi yojna, post office saving account, post office recurring account, post office time deposit account, पोस्ट ऑफिस बचत खाता, पोस्ट ऑफिस आवर्ती खाता, पोस्ट ऑफिस अवधि खाता, सुकन्या समृद्धि योजना खाता, गैंदलाल साहू, gaindlal sahu, gaindlal premlal sahu, gaindlal p sahu, gaindlal, what is saving account, what is recurring account, what is time deposit account, what is sukanya smriddhi yojna

भारत में पोस्ट ऑफिस लगभग सभी ग्रामीण क्षेत्र में स्थापित है।  ग्रामीण क्षेत्र में लोगों के निवेश के लिए पोस्ट ऑफिस ही एकमात्र विश्वसनीय सेंटर है।  यहाँ पर कई प्रकार के अकाउंट खोले जाते हैं जैसे - सुकन्या समृद्धि अकाउंट, सेविंग अकाउंट, आवर्ती जमा अकाउंट, अवधि जमा अकाउंट आदि।  इसके अलावा और भी कई प्रकार के अकाउंट खोले जा सकते हैं लेकिन ये चार एकाउंट्स ही सबसे ज्यादा प्रचलित हैं. आइये जानते हैं उन एकाउंट्स और उनके फायदे के बारे में।

Type of accounts in Post office : Post Office Saving Schemes in Hindi -
( पोस्ट ऑफिस में खातों के प्रकार : पोस्ट ऑफिस बचत योजना हिंदी में जाने ) -

1. बचत खाता ( Saving Account ) - 
                                सेविंग अकाउंट यानि बचत खाता।  इस अकाउंट से कभी भी पैसा जमा और निकाल सकते हैं। 20 रूपये की न्यूनतम राशि से यह अकाउंट खुलवाया जा सकता हैं लेकिन बैलेंस मेन्टेन करने के लिए अकाउंट में 50 रूपये होना जरूरी है।  इस पर चेक सुविधा भी उपलब्ध है, चेक सुविधायुक्त अकाउंट के लिए 500 रूपये की न्यूनतम राशि से अकाउंट खुलवाना होगा तथा मेंटेन बैलेंस भी 500 रुपया होगा।
                               
                                   पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट में 4% का ब्याज मिलता है और सबसे अच्छी बात यह कि इस ब्याज पर टैक्स देना नहीं होता, बशर्ते ब्याज की राशि 10,000 रूपये से अधिक न हो. इस पर एटीएम कार्ड की सुविधा भी उपलब्ध है.

                                 वह खाता जिस पर एक निश्चित अवधि के लिए प्रत्येक महीना निश्चित राशि जमा की जाती है उसे आवर्ती खाता कहते हैं। पोस्ट ऑफिस के आवर्ती खाता में 7.2 % ब्याज मिलता है जो कि अन्य बैंकों से कहीं अधिक है. प्रत्येक महीना जमा की जाने वाली निश्चित राशि न्यूनतम 10 रूपये होती है अर्थात यदि आप यह खाता खुलवाते हैं तो हर महीना 10 रूपये जमा करना होगा। अगर ज्यादा फायदा चाहिए तो अपने शक्ति अनुसार ज्यादा पैसा जमा करें।

                                 खाता खुलवाने के 3 साल बाद जमा की गयी राशि निकाल सकते हैं लेकिन इस स्थिति में 4% यानि सेविंग अकाउंट के अनुसार ब्याज मिलेगा।  खाता खुलवाने के 1 साल बाद कुल जमा की गयी राशि की 50% का लोन ले सकते हैं लेकिन लोन पर 10.5 % का ब्याज देना पड़ेगा।

3. अवधि जमा खाता ( Time Deposit Account ) -
                                  वह खाता जिस पर एक निश्चित समय के लिए निश्चित राशि जमा की जाती है उसे अवधि जमा खाता कहते हैं. इसमें  1, 2, 3 और 5 वर्ष का निश्चित अवधि रहता है, इनमें से किसी भी अवधि तक अपनी इच्छानुसार राशि जमा कर सकते हैं.

  • 1 वर्ष की अवधि जमा में 6.9% ब्याज,
  • 2 वर्ष की अवधि जमा में 7 % ब्याज, 
  • 3 वर्ष की अवधि जमा में 7.2 % ब्याज,
  • 5  वर्ष की अवधि जमा में 7.8% ब्याज। 
उपरोक्तानुसार जाहिर-सी बात है कि ज्यादा समय तक अवधि जमा में ज्यादा ब्याज मिलेगा और फायदा भी ज्यादा होगा। इसमें न्यूनतम 100 रूपये की राशि और अधिकतम असीमित राशि जमा कर सकते हैं। 

4. सुकन्या समृद्धि खाता ( Sukanya Smriddhi Account ) -
                                 10 वर्ष तक की आयु की लड़की के लिए यह खाता उसके अभिभावक द्वारा खोला जाता है. अभिभावक की दो लड़की तक का ही इसमें खाता खोला जा सकता है, तीन लड़की होने की स्थिति में किसी एक का खाता नहीं खुलवाया जा सकता।  
                                सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खोले जाने वाले सुकन्या समृद्धि खाता एकमात्र ऐसा खाता है जिस पर सबसे अधिक ब्याज ( 8.5 % ) मिलता है। इसमें 1 वर्ष में न्यूनतम 1000 रूपये और अधिकतम 150,000 रुपये जमा  हैं। 
                                यदि वर्ष में न्यूनतम राशि 1000 रूपये जमा नहीं हुई है तो अगले वर्ष 50 रूपये की जुर्माना देकर अकाउंट जारी रख सकते हैं।  लड़की के 18 वर्ष की आयु होने पर कुल जमा की गयी राशि की 50% यानि आधा राशि निकाल.सकते है।  
इन एकाउंट्स से सम्बंधित किसी भी प्रकार की परेशानी हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करें व इसे व्हाट्सप्प, फेसबुक पर शेयर कर अन्य लोगों तक पहुचायें।

Share This Post

Comments

2 comments: